सातवाँ वेतन आयोग | Seventh Pay Commission in Hindi

 

सातवाँ वेतनमान या, सातवाँ वेतन आयोग | Seventh Pay Commission in Hindi

वेतन आयोग, केन्द्र सरकार द्वारा दी गई ऐसी सुविधा है जो, खास रूप से सरकारी कर्मचारीयों की सिफारिश पर, सरकारी कर्मचारीयों के लिये ही बनाई गई है| वेतन आयोग मे, सभी छोटे-बड़े सरकारी कर्मचारीयों को शामिल किया गया है| समय के अनुसार इसमें परिवर्तन हुए है |बदलते समय के साथ इसका प्रतिशत भी सुधारा जाता है|

  • वेतन आयोग
  • वर्तमान मे लागू वेतनमान
  • भविष्य मे लागू वेतनमान(सातवाँ वेतन आयोग)
  • सातवे वेतन आयोग की विस्तृत जानकारी

वेतन आयोग

वेतन आयोग एक ऐसा प्रशासनिक तंत्र है जोकि, भारत सरकार द्वारा सबसे पहली बार 1946 मे स्थापित किया गया था| जिसमे कर्मचारीयों की वेतन व पेंशन संबंधीत योजना के प्रावधान किये जाते है| सरकार द्वारा आयोग मे, सिफारिश करने के लिए या रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिये 18 महीने का समय दिया जाता है|

सातवे वेतन आयोग की विस्तृत जानकारी

  • सतावे वेतन आयोग
  • सतावे वेतन आयोग का गठन
  • सतावे वेतन आयोग का उद्देश्य
  • सतावे वेतन आयोग से लाभ
  • सतावे वेतन आयोग की गणना
  • सतावे वेतन आयोग के बारे में ताज़ा खबर

सतावे वेतन आयोग – वेतन आयोग का मुख्य कार्यालय नई दिल्ली में है| यहाँ भारत सरकार ने 28 फ़रवरी 2014 को यह सातवाँ वेतन आयोग गठित करने का निर्णय लिया|  तथा आयोग को 31/12/2015 को अपनी सिफारिश पेश करने का मौका दिया गया जिसमे उसे जो भी आवश्यक लगे उस संबंध मे अंतिम निर्णय तक की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का उस दिनाँक तक का समय दिया गया| भारत सरकार की अपने द्वारा लिखे “भारत का राजपत्र” मे भी यह ही लिखा गया है कि, आयोग मे किये गठन की दिनाँक से 18 महीने तक अपनी सिफ़ारिशे दे सकता है तथा जरुरत पड़ने पर अंतरिम रिपोर्ट पर परामर्श किया जा सकता है|

सतावे वेतन आयोग का गठन – सातवे वेतन आयोग के गठन में सरकार ने एक समिति बनाई जिसमें मुख्य रूप से –

नंबर पद नाम
     
1 चेयरमैन न्यायाधीश श्री अशोक कुमार माथुर
2 मेम्बर श्री विवेक रॉय
3 मेम्बर डॉ. रथिन रॉय
4 सेक्रेटरी श्रीमती मीना अग्रवाल

 यह चार ऐसे सदस्य है जिन्होंने, आयोग मे महत्वपूर्ण भूमिका निभायी| इसके अलावा बहुत बड़ी कार्यकारिणी समिति होती

है ,जिसकी मदद से आयोग अपनी योजना को पूर्ण करते है|

सतावे वेतन आयोग का उद्देश्य – हर एक कर्मचारी को न्याय दिलाना जिससे, उसको उसके पुरे अधिकार प्राप्त हो, तथा किसी भी प्रकार से उसके अधिकारों का हनन न हो| सरकारी कर्मचारी चाहे, जो अपनी सेवा सरकार को दे रहा है, या दे चूका है अर्थात सेवानिवृत्त कर्मचारीयों के लिये भी जो पेंशन प्राप्त कर रहे है|

सतावे वेतन आयोग से लाभ – सातवे वेतन आयोग से लाभ देखा जाये तो, सभी सरकारी कर्मचारीयों को है परन्तु, इसका दायरा बहुत ही विस्तृत है|

यह संक्षिप्त मे इस प्रकार है-

Seventh Pay Commission in Hindi

सतावे वेतन आयोग की गणना-

सतावे वेतन आयोग के बारे में ताज़ा खबर-