MP 12th Board Examination Preparation Tips (एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं परीक्षा तैयारी के लिए टिप्स)

एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं परीक्षा की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण टिप्स, विषय (MP 12th Board Examination Preparation Tips, Subject, PDF in Hindi)

दोस्तों एमपी बोर्ड परीक्षा मार्च अप्रैल के महीने में ली जाती है। महामारी के समय इसके नियम, सिलेबस और पढ़ाई के माध्यम आदि में परिवर्तन हो सकता है,परंतु इसके महत्व में कोई बदलाव नहीं आएगा।यह परीक्षा छात्रों को प्रोफेशनल कॉलेज में भर्ती होने से पहले देनी पड़ती है इसलिए इसके विषय और कॉन्सेप्ट्स पर अच्छी पकड़ एक अच्छे कैरियर को बढ़ावा देता है। इसलिए आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे किस तरह कम समय में भी एमपी बोर्ड परीक्षा की समुचित तैयारी की जा सकती है जिसके फलस्वरूप छात्रों को अच्छे अंक प्राप्त हो सकते हैं। हम इस आर्टिकल में जरूरी टिप्स पर चर्चा करेंगे जिन्हें व्यवहार में लाकर एक विद्यार्थी अच्छी प्रिपरेशन कर सकता है।

mp board class 12th examination preparation tips in hindi

एमपी बोर्ड 12वीं परीक्षा तैयारी टिप्स (MP 12th Board Examination Preparation Tips)

सिलेबस के बारे में जानकारी रखना

दोस्तों,एक अच्छी तैयारी के लिए यह बेहद जरूरी है कि विद्यार्थी परीक्षा के नेचर को पहचाने। इसके लिए यह अनिवार्य हो जाता है कि परीक्षा में आने वाले चैप्टर टॉपिक्स के बारे में उन्हें पता हो। इसके लिए एमपी बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा कर एमपी बोर्ड द्वारा जारी की गई ब्लूप्रिंट को डाउनलोड करना चाहिए। ब्लूप्रिंट को ध्यान में रखने से मार्क्स डिस्ट्रीब्यूशन का भी पता चलता है। इस से विद्यार्थी ये जान पाएंगे कि किस टॉपिक की कितनी तैयारी होनी चाहिए और फिर उस हिसाब से विषय पर उचित समय दे पाएंगे।

पुराने प्रश्न पत्रों का रिवीजन

एक विद्यार्थी को अपनी तैयारी परखने के लिए कम से कम पिछले पांच सालों के प्रश्न पत्र अवश्य सॉल्व करने चाहिए। पुराने प्रश्न पत्र परीक्षा के पैटर्न को समझने में मदद करते हैं। अगर एक विद्यार्थी इन प्रश्नों से अवगत है तो इससे असल परीक्षा में उसे आत्मविश्वास की कमी नही होगी। अगर पुराने प्रश्नों को सॉल्व करने में किसी छात्र को अधिक समस्या आए तो उसे समझ जाना चाहिए की उसकी स्ट्रेटजी में कोई कमी रह गई है

छोटे छोटे नोट्स बनाने की आदत

स्टूडेंट्स को चैप्टरवाइज छोटे नोट्स बनाने की आदत डालनी चाहिए। परीक्षा के ठीक पहले पूरी किताब पढ़ना संभव नहीं हो पाता है। अगर नोट्स बने रहेंगे तो उन्हे समय समय पर पढ़ने में आसानी होगी। स्टूडेंट्स को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जिन विषयों का सिलेब्स बड़ा है या जिनमे फॉर्मूले अधिक हैं उनके समराइज्ड नोट्स को चैप्टरवाइज बनाया जाना चाहिए। इसके साथ ही नोट्स बनाने से चीजे जल्दी समझ आती हैं और लंबे वक्त तक यादाश्त में भी बनी रहती हैं।

मॉडल टेस्ट पेपर्स को सॉल्व करना

दोस्तो मानसिक रूप से खुद को तैयार करने के लिए ये जरूरी है कि जिस समय परीक्षा का असल टाइम होता है उसी समय नियमित रूप से घर पर बैठ कर मॉडल टेस्ट पेपर्स सॉल्व लिए जाएं। ऐसा करने से विद्यार्थी साइकोलॉजिकली परीक्षा के लिए तैयार हो जाते हैं। इसके अलावा आलस्य और नींद भी परीक्षा के समय दूर रहती है। इस तरह बोर्ड एग्जामिनेशन की प्रिपरेशन में मॉडल टेस्ट पेपर्स को सॉल्व करना एक बेहद स्टेप है।

टाइम टेबल बना कर पढ़ाई करना

टाइम टेबल बना कर पढ़ाई करने से सारे सब्जेक्ट्स कवर हो जाते हैं। टाइम टेबल सेल्फ स्टडी करने में मदद करता है। स्टूडेंट्स को कठिन और आसान विषयों को ध्यान में रख कर के टाइम टेबल बनाना चाहिए। जो विषय कमजोर हैं उन्हें बार बार दोहरा पाएं, ऐसी रूटीन होनी चाहिए। ऐसा करने से आप की तैयारी पूरी रहेगी और अव्वल अंक आएंगे।

ऊपर दिए गए सुझाव एक विद्यार्थी को कम समय में सिलेब्स को पूरी तरह कवर करने में मदद कर सकते हैं। बोर्ड की परीक्षा में अच्छे अंक लाना एक जटिल काम नही है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि तैयारी योजनाबद्ध तरीके से की जाए। आशा है ऊपर दिए गए सुझाव  विद्यार्थियों की मदद और मार्गदर्शन करेंगे।

एमपी बारहवीं बोर्ड परीक्षा के मुख्य विषय इस प्रकार हैं (MP 12th Board Examination Main Subjects)

  • हिंदी
  • अंग्रेजी 
  • संस्कृत 
  • हिस्ट्री 
  • पॉलिटिकल साइंस
  • इकोनॉमिक्स
  • फिजिक्स 
  • बिजनेस स्टडी 
  • एग्रीकल्चर 
  • गणित
  • बायोलॉजी

अन्य पढ़ें –

  1. एमपी बोर्ड 12वीं जियोलॉजी सिलेबस
  2. एमपी बोर्ड 12वीं मॉडल पेपर
  3. एमपी बोर्ड 12वीं त्रैमासिक मॉडल पेपर सलूशन
  4. एमपी बोर्ड कक्षा 10वीं एवं 12वीं की नई किताबें

Latest articles

Similar articles